EEG Test Guide in Hindi

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ई ई जी) / What is Electroencephalogram (EEG) Test?

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ई ई जी) टेस्ट की सहायता से मस्तिष्क की सामान्य और असामान्य स्थिति का पता चलता है। वर्तमान समय में Electroencephalogram (EEG ) का विशेष महत्व है। इस तकनीक में पतले तारो की छोटी डिस्क, जिनको इलेक्ट्रोड भी कहते है, को मस्तिष्क के हर भाग पर लगाया जाता है। इन इलेक्ट्रोड की सहायता से मस्तिष्क में मौजूद न्यूरॉन्स की इलेक्ट्रिकल गतिविधियों को रिकॉर्ड किया जाता है, और ये इलेक्ट्रोड तार के माध्यम से एक कंप्यूटर से जुड़े होते हैं। इस तकनीक में मरीज का इलाज करने वाले डॉक्टर को न्यूरोलॉजिस्ट कहते हैं।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


ई ई जी टेस्ट होते हुए

ई ई जी टेस्ट होते हुए

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ई ई जी) क्यों करवाना चाहिए ?

यह टेस्ट मुख्य रूप से नींद से सम्बंधित समस्याओ का पता लगाने और व्यवहार में आये बदलाव को समझने के लिए प्रयोग किया जाता है।  साथ ही साथ सर में चोट लग जाने के बाद की स्थिति जानने और दिल एवं लिवर के ट्रांसप्लांट से पहले और बाद की मानसिक अवस्था का पता लगाने के लिए होता है।

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ईईजी) कैसे होता है?/ Procedure of EEG – Electroencephalogram

इस प्रक्रिया में टेक्निशन मरीज के सर में जगह जगह इलेक्ट्रोड लगा देते हैं, जो एक रिकॉडिंग मशीन से जुड़े होते हैं। मस्तिष्क से प्राप्त इलेक्ट्रिकल गतिविधि तरंगो के रूप में कंप्यूटर पर प्रदर्शित होती हैं। इस प्रक्रिया में लगभग एक घंटे का समय लगता है। जिसके दौरान मरीज को ज़्यादा समस्या नही होती और मरीज को कोई भी इलेक्ट्रिक करंट या झटका महसूस नही होता। प्रक्रिया के बीच में न्यूरोलॉजिस्ट मरीज को कुछ मिनट के लिए गहरी लम्बी साँसे लेने के लिए कह सकते हैं और कभी कभी मरीज को सोने के लिए भी कह दिया जाता है।

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ईईजी) रिकॉर्डिंग मशीन द्वारा प्रदर्शित तरंगो के प्रकार / Types of Waves Reflected by the EEG Recording Machine

ये तरंगे मुख्यत चार प्रकार की होती हैं।

  • एल्फा तरंगे – इनकी Frequency मुख्यता : 8 to 12 cps (Cycle Per Second) होती है। यह तब प्रदर्शित होती हैं ,जब टेस्ट के समय मरीज की आँखे तो बंद होती हैं परन्तु मानसिक रूप से वह चिंतित अवस्था में होता है। जैसे ही मरीज अपनी आँखे खोलता है या ध्यान की अवस्था में आता है तो एल्फा तरंगे नहीं रहती।
  • बीटा तरंगे – इनकी Frequency 13 से  30 cps (Cycles Per Second) होती है। यह तब प्रदर्शित होती हैं। जब मरीज दवाई का सेवन किया होता है।
  • डेल्टा तरंगे – इसकी Frequency 3 cps ( Cycle Per Seconds ) से कम होती है। यह तब प्रदर्शित होती हैं जब मरीज टेस्ट प्रक्रिया में सोने की अवस्था में होता है। ज़्यादातर बच्चो के टेस्ट के दौरान ये होती हैं।
  • थीटा तरंगे – इनकी Frequency 4 से 7 cps (Cycle per Second) होती है। और यह भी बच्चो के टेस्ट के दौरान प्रदर्शित होती हैं।

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ईईजी) टेस्ट के परिणाम / Result of EEG Test

अगर टेस्ट के समय मस्तिष्क के दोनों तरफ के हिस्सों से एक ही प्रकार की तरंग प्रदर्शित होती हैं या टेस्ट प्रक्रिया में  मस्तिष्क से कोई भी असधारण तरंग प्रदर्शित नही होती या स्क्रीन पर प्रदर्शित होने वाली तरंगो की गति धीमी नहीं होती तो यह सामान्य अवस्था का सूचक होता है। इसके विपरीत परिस्थति में असामान्य अवस्था होती है।

यदि व्यस्क व्यक्ति के टेस्ट के दौरान स्क्रीन पर बहुत अधिक थीटा तरंग दिखाई देती है तो यह ब्रेन (Brain) में बीमारी का सूचक है। टेस्ट के दौरान जिस समय मशीन कोई ब्रेन इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी नहीं नापता या स्क्रीन पर तरंग प्रदर्शित न हो केवल स्ट्रैट लाइन दिखाई देती है तो इसका मतलब है की उस समय ब्रेन ने काम करना बंद कर दिया है। जो मुख्यता ब्रेन में ऑक्सीजन की कमी और रक्त का प्रवाह बंद होने की वजह से होता है। यह तब होता है जब मरीज कोमा में चला जाता है। 

दिल्ली में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ईईजी) टेस्ट की लागत / दिल्ली में Electroencephalogram (EEG) की कीमत / Cost of EEG Test in Delhi

इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट महंगा टेस्ट होता है। लेकिन आप LabsAdvisor.com की नेटवर्क लैब्स के द्वारा दिल्ली में ईईजी टेस्ट पर डिस्काउंट पा सकते हैं और आप अपनी नज़दीकी लैब में बुक भी कर सकते हैं। जिसमे टेस्ट की अच्छी गुणवत्ता का आश्वासन दिया जाता है। आप दिए गए लिंक पर क्लिक करके हमारी वेबसाइट पर भी बुक कर सकते हैं,

EEG Test

EEG Test की कीमत

दिल्ली में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹ 900
गुड़गांव में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹ 900
नोएडा में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹ 1400
हैदराबाद में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹  500
बेंगलुरु में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹ 2125
चेन्नई  में इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (EEG) टेस्ट की कीमत ₹ 1232

 ईईजी टेस्ट कैसे बुक करें?

आप अपने ईईजी टेस्ट LabsAdvisor.com के द्वारा इस नंबर पर Call करके 08882668822 बुक करा सकते हैं। अगर आप Call Back  चाहते हैं या अपने ईमेल पर जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें info@labsadvisor.com पर ईमेल करें तथा नीचे दिए गए फॉर्म में अपनी Details भरें।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


यदि आपको ऊपर लिखा लेख पसंद आया है तो आप निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अन्य लेख भी पढ़ सकते हैं।

  1. दिल्ली, गुडगाँव, नोएडा में एम आर आई स्कैन की कीमत
  2. किडनी फंक्शन टेस्ट की जानकारी.
  3. लिवर फंक्शन टेस्ट की जानकारी
  4. बोन डेंसिटी टेस्ट / Dexa (डेक्सा) स्कैन डिस्काउंट पर बुक करे – दिल्ली, गुडगाँव, नोएडा

To read this article in English, click here: Comprehensive Guide on EEG in India and EEG Test cost in India


9 Comments

सुनील गुप्ता · April 18, 2017 at 3:02 pm

क्या ओ सी डी की बीमारी में ई ई जी टेस्ट से कोई मदद मिल सकती है।

अनामिका विश्वकर्मा · May 28, 2017 at 3:30 pm

आप यह बताने का कष्ट करें कि जो अल्फा बीटा आदि तरंग है उनका रंग क्या होता है जिससे समझ आये की कौन से तरंग का क्या काम हैं।

Rahi gour · August 29, 2017 at 7:53 pm

Bhohut sandar

What is EEG Test and What is EEG Cost in India? – Medical Tests at Your Fingertips · February 10, 2017 at 6:11 pm

[…] EEG Guide in Hindi […]

4 Reasons Indians Smoke and Why it is Really Uncool – Medical Tests in India · March 24, 2017 at 2:41 pm

[…] EEG Test Guide in Hindi […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: