भारत में महिलाओं के लिए एचएसजी टेस्ट (HSG Test in Hindi) की संपूर्ण गाइड

भारत में Hysterosalpingogram (HSG) टेस्ट की गाइड / दिल्ली में एचएसजी टेस्ट की कीमत

भारत में एचएसजी टेस्ट के लिए यह एक व्यापक गाइड है। Labsadvisor.com, भारत में मेडिकल टेस्ट का प्रमुख प्लेटफॉर्म है, जो रोगियों को सही लैब से जोड़ने में मदद करता है। इसका उद्देश्य अपने उपयोगकर्ताओं को विभिन्न चिकित्सा प्रक्रियाओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करना है। एचएसजी पर यह गाइड उस प्रयास का एक हिस्सा है।

एचएसजी के इस गाइड में निम्नलिखित विषयों को शामिल किया गया है:

  1. एचएसजी टेस्ट क्या है?
  2. भारत में एचएसजी टेस्ट की कीमत क्या है?
  3. एचएसजी टेस्ट की प्रक्रिया क्या है?
  4. क्या मुझे एचएसजी टेस्ट के दौरान दर्द महसूस होगा ?
  5. एचएसजी टेस्ट के लिए तैयारियां
  6. एचएसजी टेस्ट से जुड़े ख़तरे क्या हैं?
  7. मैं अपने एचएसजी टेस्ट के लिए लैब / अस्पताल कैसे चुन सकती हूँ और टेस्ट कैसे बुक कर सकती हूँ ?

आप किसी भी क्रम में किसी भी भाग को स्वतंत्र रूप से पढ़ सकते हैं।

एचएसजी टेस्ट क्या है?

एचएसजी या Hysterosalpingogram एक विशेष प्रकार का एक्स-रे है, जिसका उपयोग महिलाओं में प्रजनन क्षमता का मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है। यह टेस्ट एक रेडियोलॉजिकल प्रक्रिया है, जहां गर्भाशय के गुहा के साथ फैलोपियन ट्यूब्स के आकार और पेटेंट की जांच की जाती है। इसमें यह जांच की जाती है कि फैलोपियन ट्यूब ब्लॉक है या नहीं। अगर हैं, तो महिला के लिए गर्भधारण करना संभव नहीं है, क्योंकि इसमें अंडा जारी नहीं किया जा सकता और इसलिए ये निषेचित नहीं होता।

एचएसजी एक आउट पेशेंट प्रक्रिया है और आमतौर पर यह अस्पताल के रेडियोलॉजी विभाग या आउट पेशेंट रेडियोलॉजी सुविधा में किया जाता है।

अगर आपको गर्भ धारण करने में परेशानी होती है, तो ऐसे मामलों में यह टेस्ट निर्धारित हो सकता हैं। इसके अलावा, अगर मरीज को दो या उससे अधिक गर्भपात हुए हैं, तब एचएसजी टेस्ट निर्धारित किया जा सकता है, असामान्य गर्भाशय के आकार के कारण आवर्ती गर्भपात हो सकता है। आमतौर पर, 10-15% महिलाओं को असामान्य आकार के गर्भाशय के कारण आवर्ती गर्भपात से गुज़रना पड़ता है।

भारत में एचएसजी टेस्ट की कीमत क्या है?

भारत में एचएसजी टेस्ट LabsAdvisor.com में एचएसजी टेस्ट की न्यूनतम कीमत एचएसजी टेस्ट के मार्किट मूल्य
दिल्ली में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 1750 ₹ 6000
नोएडा में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 2000 ₹ 4000
गुड़गांव में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 1750 ₹ 6000
मुंबई में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 4125 ₹ 5500
हैदराबाद में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 1600 ₹ 2000
चेन्नई में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 2125 ₹ 3000
बेंगलुरु में एचएसजी टेस्ट की कीमत ₹ 1750 ₹ 3500
भारत के और अन्य शहरों में एचएसजी टेस्ट की कीमत जानने के लिए यहाँ क्लिक करें।

LabsAdvisor.com के साथ भारत में अपने एचएसजी टेस्ट बुक करने के लिए, 08882668822 पर हमें कॉल या WhatsApp करें। अगर आप Call Back चाहते हैं, तो नीचे दिए गए फॉर्म को भरें।

एचएसजी टेस्ट की प्रक्रिया क्या है?

आपके डॉक्टर एचएसजी की प्रक्रिया शुरू करने से पहले, आपको anaesthesia दे सकते है जो आपके गर्भाशय की मांसपेशियों को आराम देने में आपकी सहायता करेगा। यह जांच के दौरान ऐंठन से बचने के लिए किया जाता है।

एचएसजी टेस्ट की प्रक्रिया के दौरान:

  • आपको अपनी कमर के आसपास एक गाउन लगाने के लिए कहा जाएगा और एक सपाट सतह पर पीठ के बल लेटना होगा, और अपने पैरों को “frog leg” जैसी स्थिति में करना होगा।
  • आपके डॉक्टर एक धातु का उपकरण जो स्पेक्लुम कहलाता है को आपके vagina में गर्भाशय ग्रीवा को देखने के लिए डालेंगे।
  • एक नरम और पतली कैथेटर को गर्भाशय ग्रीवा के माध्यम से रोगी के गर्भाशय गुहा में रखा जाएगा। डॉक्टर, वैकल्पिक रूप से एक टेनकुलम भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो गर्भाशय ग्रीवा पर रखा जाता है , जिसमें Narrow Metal Cannula को ग्रीवा के माध्यम से डाला जाता है।
  • इस के बाद, एक कंट्रास्ट डाई कैथेटर या Cannula के माध्यम से गर्भाशय कैविटी में इंजेक्ट किया जाएगा। कंट्रास्ट इंजेक्ट करने के बाद एक्स रे चित्र लिए जाते हैं। और जब कंट्रास्ट एजेंट पूरी तरह से ट्यूब में इंजेक्ट हो जाता है और वह पेट की कैविटी में फैलने लगता है तब फिर से चित्र लिए जाते हैं। “भरने और फैलने” की प्रक्रिया के दौरान चित्रों को लगातार लिया जाता है।
  • जब ट्यूब डाई फैलती हैं, शरीर रचना विज्ञान को चित्रित करने के लिए एक oblique एक्स-रे छवि के लिए आपको एक तरफ रोल करने के लिए कहा जा सकता है।

एचएसजी की प्रक्रिया में 30 मिनट से अधिक का समय नहीं लगता। इस पूरी प्रक्रिया के बाद, उपकरणों को हटा दिया जाएगा और कंट्रास्ट के कारण ऐंठन से बचने के लिए आपको कुछ ही मिनटों के लिए एक ही स्थान पर रहने के लिए कहा जाएगा।

एचएसजी टेस्ट से दर्द

  • जब मरीज के शरीर में डाई इंजेक्ट की जाती है तब दर्द हो सकता है। यह फैलोपियन ट्यूब के ब्लॉक होने की वज़ह से हो सकता है।
  • जब डाई इंजेक्ट की जाती है, तो आपको बार बार अपनी स्थिति बदलने के लिए कहा जा सकता है, साफ़ और सही चित्रों के लिए आपको अपनी सांस रोकने के लिए भी बोल सकते हैं। आपके शरीर पर लगाए गए उपकरणों से थोड़ी असुविधा हो सकती है।
  • आपको पूरे टेस्ट के दौरान अनुभव की जाने वाली दर्द की मात्रा पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करती है कि आप किन समस्याओं का सामना कर रहे हैं।
  • जरूरत पड़ने पर आप अपने डॉक्टर की मदद के लिए पूछ सकते हैं। भारत भर में एचएसजी टेस्ट बुक करने के लिए, यहां क्लिक करें।
दिल्ली में एचएसजी टेस्ट की कीमत
LabsAdvisor.com – भारत में एचएसजी टेस्ट बुक करें।

एचएसजी टेस्ट के लिए तैयारियां

एचएसजी टेस्ट आपकी मासिक अवधि के बाद किया जाना चाहिए, लेकिन ओव्यूलेशन से पहले एक्स-रे का प्रयोग रोकना चाहिए अगर आप गर्भ धारण करते हैं। आपके मासिक धर्म के 2-5 दिनों के बाद टेस्ट करना एक आदर्श समय हैं।

टेस्ट से पहले, आपको सहमति फॉर्म पर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता हो सकती है, यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप प्रक्रिया से जुड़े ख़तरों को समझते हैं।

आपको अपने डॉक्टर को यह भी बता देना चाहिए कि:

  • आप गर्भवती हो सकती हैं।
  • आप पेल्विक से ग्रस्त हैं या यौन संचारित संक्रमण हैं।
  • आपको कंट्रास्ट या आयोडीन डाई से एलर्जी होती है।
  • आप अत्यधिक खून बहने की समस्याओं से पीड़ित हैं या आपका ख़ून पतला है।
  • आपको कभी मधुमेह या किडनी की समस्याओं का इतिहास रहा हो क्योंकि इस प्रक्रिया के दौरान इस्तेमाल की जाने वाले आयोडीन डाई से रोगी के गुर्दे का प्रभावित होने का खतरा हो सकता है। इसके अतिरिक्त, यदि आपको गुर्दा की समस्या का इतिहास है, तो आपके डॉक्टर आपका वास्तविक टेस्ट करने से पहले ब्लड टेस्ट ब्लड यूरिया नाइट्रोजन करने के लिए बोल सकते है; यह आम तौर पर यह देखने के लिए किया जाता है कि क्या आपके गुर्दे सही तरह से काम कर रहे हैं।
  • एचएसजी टेस्ट के लिए आपको अपने साथ एक सैनिटरी पैड ले जाने की सलाह दी जाती है, आपको प्रक्रिया के बाद थोड़े से रक्तस्राव के साथ एक्स-रे डाई के कुछ रिसाव का अनुभव हो सकता है।
  • आप जो भी दवाई ले रहें हैं टेस्ट से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें और अपनी सभी चिंताओं पर चर्चा करके सुनिश्चित करें।

कुछ ऐसे कारण हो सकते है जो आपको टेस्ट कराने से रोक सकते है। जो निम्न हैं:

  • यदि आपके फैलोपियन ट्यूब में एक ऐंठन है यह आपकी ट्यूब बना सकते है जैसे इसे ब्लॉक कर दिया गया हो।
  • अगर आपके डॉक्टर आपके गर्भाशय में कैथेटर लगाने में असमर्थ होते है।
  • यदि आप गर्भवती हैं तो इस टेस्ट के लिए न जाएं क्योंकि एक्स रे की किरणें आपके भ्रूण को प्रभावित कर सकती हैं।

एचएसजी के साथ जुड़े ख़तरे

एक्स-रे से जुड़ा हमेशा एक छोटा खतरा होता है, इसमें प्रक्रिया के दौरान उपयोग की जाने वाली विकिरण की मात्रा के ज्यादा होने से सेल और ऊतक के ख़राब होने की संभावना होती है।

हालांकि 1% से कम, टेस्ट के बाद पैल्विक संक्रमण की थोड़ी संभावना रहती है। इस बात की ज़्यादा संभावना तब रहती है अगर आपको पहले कभी इंफेक्शन हुआ हो। यदि आप टेस्ट के बाद बुखार या अत्यधिक दर्द का अनुभव करते हैं, तो अपने डॉक्टर को फोन करके सुनिश्चित करें।

बहुत ही दुर्लभ मामलों में, यदि डाई का इस्तेमाल तेल आधारित है, तो तेल खून में लीक कर सकता है। इसके कारण फेफड़ों में प्रवाह की रुकावट हो सकती है।

अगर मरीज के पास कई यौन साथी हैं या अन्यथा यौन संचारित रोगों के खतरों में है, तब उनका एचएसजी से पहले cervical cultures के साथ स्क्रीनिंग किया जा सकता है। कुछ डॉक्टर ऐसे मामले में संक्रमण के किसी भी खतरे को कम करने के लिए टेस्ट से कुछ दिनों पहले एंटीबायोटिक दवाओं को निर्धारित कर सकते हैं।

एचएसजी टेस्ट के बाद

आपको टेस्ट के बाद थोड़ी ऐंठन या light spotting सी लग सकती है। आम तौर पर, कोई सावधानी बरतने की ज़रूरत नहीं है और आप सामान्य दैनिक दिनचर्या में वापस आ सकता है।

कुछ ऐसे मामलों में अपने डॉक्टर को फोन करके सुनिश्चित करें:

  • अगर आपको बहुत ज्यादा खून बहने का अनुभव हो रहा हो।
  • बुखार हो।
  • गंभीर पेट दर्द हो।

अगर रिपोर्ट सामान्य होती है तो डाई ट्यूबों के माध्यम से गर्भाशय से स्वतंत्र रूप से बहती है, सामान्य रूप से पेट में फैल रही है। इसका अर्थ है कि गर्भाशय में कोई ट्यूमर या विकास नहीं देखा जाता।

अगर रिपोर्ट असामान्य हैं, और रिपोर्ट में फैलोपियन ट्यूबों को धुंधला, क्षतिग्रस्त या ब्लॉक देखा जा सकता है। अगर ट्यूब ब्लॉक हो गई हैं, तो महिला के गर्भवती होने की संभावना नहीं होती है, क्योंकि इसमें egg, sperm से नहीं मिल पाता। अगर गर्भाशय असामान्य है, और इसमें tissue दिखाई देतें हैं, जो गर्भाशय को विभाजित करते हैं। इसके अलावा, असामान्य वृद्धि जैसे कि polyps या fibroids की उपस्तिथि हो सकती हैं।

कई लोगों को लगता है कि डाई टेस्ट गर्भवती होने की संभावना में सुधार कर सकती है। एचएसजी के बाद पहले महीनों में गर्भावस्था की थोड़ी संभावना होती है। यह इसलिए है क्योंकि ट्यूबों को फिसलने से छोटी सी रुकावट खुल सकती है और गर्भधारण को रोकने वाले अवशेष को साफ करने से।

कई अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि पानी आधारित डाई की तुलना में तेल आधारित डाई का उपयोग गर्भावस्था की एक बढ़ी संभावना को बढ़ा देता है। हालांकि, ज्यादातर स्थितियों में पानी आधारित रंगों का उपयोग डॉक्टरों द्वारा किया जाता है।

भारत में एचएसजी टेस्ट कैसे बुक करें?

भारत में एचएसजी टेस्ट बुक करने के लिए आप 08882668822 पर कॉल करें। हमारा देश में अच्छी लैब के साथ tied up है। यहां आपको न केवल अच्छी गुणवत्ता के टेस्ट का आश्वासन दिया जाता है बल्कि आपको टेस्ट डिस्काउंट रेट में प्राप्त होंगे। आप अपना टेस्ट हमारी वेबसाइट http://www.labsadvisor.com पर जाकर ऑनलाइन बुक भी कर सकते हैं या हमारी एंड्रॉइड ऐप ‘ LabsAdvisor ‘ को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करके भी बुकिंग कर सकते हैं। अगर आप हमारी तरफ से call back चाहतें हैं तो इस आर्टिकल के शुरू में दिए गए फॉर्म में अपनी details भरें।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


कुछ अन्य लेख हैं जो आपके लिए उपयोगी हो सकते हैं, जिनकी सूची नीचे सूचीबद्ध हैं:


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s