भारत में आईवीपी एक्स-रे टेस्ट (X Ray IVP in Hindi) की विस्तृत गाइड – आईवीपी टेस्ट की कीमत, प्रक्रिया, ख़तरे और परिणाम

 

भारत में आईवीपी टेस्ट / भारत में आईवीपी टेस्ट की कीमत

आईवीपी (Intravenous Pyelogram) क्या है?

हालांकि एक्स रे, टूटी हुई हड्डियों का मूल्यांकन करने के लिए सबसे अच्छा जाना जाता हैं, यह शरीर के विभिन्न भागों जैसे गुर्दे की जांच करने के लिए भी अत्यंत उपयोगी होता है।

आईवीपी का पूरा नाम इंट्रावेनस पयलोग्राम (IVP-Intravenous Pyelogram) है। यह एक एक्स-रे टेस्ट है, जिसमें गुर्दे और मूत्र मार्ग अंगो की जाँच होती है। ज़रूरत पढ़ने पर, गुर्दे (Kidneys), मूत्रवाहिनी (Ureters) और मूत्राशय (Bladder) का मूल्यांकन करने के लिए कंट्रास्ट एजेंट या डाई आपकी नसों में इंजेक्ट की जाती है। यह इसलिए किया जाता है, क्योंकि एक साधारण एक्स-रे में, गुर्दे की छवि बहुत अच्छी तरह से नहीं दिखती। यह प्रत्येक गुर्दे का आकार देखने के लिए संभव है, लेकिन, आंतरिक संरचना का एक विस्तृत विश्लेषण और वे कितनी अच्छी तरह से काम कर रहे हैं, के बारे में जानकारी सिर्फ आईवीपी के माध्यम से ही संभव है। इस प्रक्रिया से ये भी देखा जा सकता है कि शरीर में मूत्र संबंधी अंग किस तरह से काम कर रहें हैं।

आईवीपी Intravenous Urogram (IVU) के रूप में भी जाना जाता है। आईवीपी एक IVU के रूप में निर्देश किया जाता है। इंट्रावेनस (Intravenous) का मतलब नसों में कुछ इंजेक्ट करने से है। Pyelogram, दूसरे हाथ पर, गुर्दे की आंतरिक संरचना की छवियों और ट्यूबों जो मूत्राशय और मूत्रवाहिनी को गुर्दे से शुरू करने के लिए निर्देश करता है। Urogram का नाम अब बदल गया है क्योंकि प्रौद्योगिकी की उन्नति जो अब गुर्दे की बेहतर जानकारी के लिए पूरी मदद करता है इसलिए, आज के समय में, दोनों के नाम और कोड डॉक्टरों और तकनीशियनों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

इस गाइड का मुख्य लक्ष्य आपको टेस्ट के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करना है जो एक मरीज़ को टेस्ट से पहले, टेस्ट के दौरान और टेस्ट के बाद की स्थिति के बारे में पता होना चाहिए । यह निम्न वर्गों में शामिल है :-

  • आईवीपी कब किया जाता है?
  • आईवीपी टेस्ट की प्रक्रिया
  • आईवीपी टेस्ट के लिए तैयारियां
  • आईवीपी टेस्ट के लाभ और ख़तरे
  • आईवीपी के परिणाम की व्याख्या
  • भारत में आईवीपी टेस्ट की कीमत

₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


आप LabsAdvisor.com  के नंबर पर 08882668822 कॉल करके आईवीपी टेस्ट बुक करा सकते हैं या कॉल वापसी के लिए नीचे दिए फॉर्म में अपनी details भरें।

आईवीपी (IVP) कब किया जाता है?

कुछ मामलों में जैसे जब आप मूत्र पथ संक्रमणों से पीड़ित हैं या आपमें गुर्दे की समस्या के लक्षण है तो आपके डॉक्टर आपको एक आईवीपी करवाने के लिए बोल सकते हैं। इसमें साइड में दर्द, पीठ में दर्द और मूत्र में खून के निशान आदि शामिल हो सकते हैं। आईवीपी निम्नलिखित का निदान करने में मदद कर सकता हैं :

  • मूत्राशय और गुर्दे में संक्रमण
  • गुर्दे और मूत्राशय में पथरी
  • ट्यूमर
  • बढ़ा हुआ प्रोस्टेट
  • पेट में चोट लगने की घटनाएं
  • मूत्रमार्ग में रुकावटें

₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


 आईवीपी टेस्ट की प्रक्रिया

एक्स रे रूम में जाने से पहले डॉक्टर या तकनीशियन द्वारा आपको अपने मूत्राशय को खाली करने के लिए कहा जाएगा और फिर आपको टेस्ट के लिए एक टेबल पर लेटने के लिए बोला जाएगा।

सबसे पहले, कंट्रास्ट इंजेक्ट करने से पहले आपके पेट का एक साधारण एक्स-रे प्रदर्शन किया जाएगा। यह विशेष रूप से किसी भी गुर्दे में पथरी को देखने के लिए किया जाता है। फिर, एक्स-रे कंट्रास्ट का इंजेक्शन आपके हाथ की नसों में इंजेक्ट किया जाएगा। जब कंट्रास्ट डाई आपके शरीर में इंजेक्ट की जाती है तब आप को एक सनसनी सी महसूस हो सकती है। कंट्रास्ट इंजेस्ट करने के थोड़े समय बाद एक्स रे की तस्वीर ली जाती है।

इस प्रक्रिया में 30-60 मिनट का समय लगता है और इस समय के दौरान हर कुछ मिनट के बाद कैमरे द्वारा एक्स-रे चित्रों की एक श्रृंखला बनाई जाती है। हर तस्वीर से पहले आपको अपनी सांस रोकने के लिए कहा जाएगा। यह आपके गुर्दे के सही आकार को निर्धारित करने के लिए किया जाता है। अंतिम तस्वीर लेने से पूर्व आपको मूत्राशय खली करने (पेशाब करने) के लिए बोला जायगा।

कुछ मामलों में, रेडियोलाजिस्ट बेहतर मूत्र संरचनाओं को देखने के लिए और कंट्रास्ट के बहाव को धीमा करने के लिए आपके पेट के चारों और कम्प्रेशन बेल्ट बांध सकते हैं।

आईवीपी के लिए तैयारियां

आपके डॉक्टर आपको टेस्ट से कुछ घंटो पहले खाने और पीने के लिए मना कर सकते हैं। आप मधुमेह रोगी हैं या इंसुलिन लेते हैं, तो आप अपने डॉक्टर से सुनिश्चित कर लें कि आप टेस्ट के दिन इंसुलिन ले सकते हैं या नहीं।

आईवीपी से पहले अपने डॉक्टर से निम्न बातें कहें:

  • अगर आपको लगता है की आप गर्भवती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।
  • आप स्तनपान कर रहे हैं। इसके विपरीत इस टेस्ट में प्रयुक्त कंट्रास्ट डाई आपके ब्रैस्ट मिल्क में मिल सकता है। इस टेस्ट के 2 दिनों तक आप अपने बच्चे को स्तनपान नही करा सकते हो।
  • आपको किसी दवाई या खाने की चीजों से एलर्जी हो,विशेष रूप से आयोडीन या समुद्री खान-पान से।
  • कंट्रास्ट डाई से एलर्जी होती हो, तो अपने डॉक्टर को इस बात से सूचित करें।।
  • पिछले 4 दिनों के अंदर, आपने बेरियम कंट्रास्ट सामग्री (जैसे एक बेरियम एनीमा के रूप में) का उपयोग एक्स-रे टेस्ट के लिए किया हो।

डॉक्टर आईवीपी टेस्ट से पहले आपको स्पेशल डाइट की सिफारिश कर सकते हैं। यह बड़ी आंत में ठोस मल को कम से कम करने के लिए किया जाता है क्यूंकि मल एक्स रे को पढ़ने के लिए कठिन बनाता है।

आईवीपी टेस्ट के ख़तरे

  • आईवीपी द्वारा दिया गया चित्र अत्यंत मूल्यवान और गहरी जानकारी प्रदान करता है जो डॉक्टरों को रोगी के मूत्र पथ की स्थिति के उपचार और निदान में मदद करता है, पत्थरी से कैंसर तक।
  • आईवीपी के साथ खतरे सामान्य विकिरण और इंजेक्ट की गई कंट्रास्ट डाई से है। अगर आप न्यूनतम विकिरण के संपर्क में हैं, तो इसकी छोटी सी राशि एक विकासशील भ्रूण को नुकसान पहुँचा सकती है।इसलिए गर्भवती महिलाओं को इस टेस्ट के समय अधिक सावधानी रखनी चाहिए।
  • इंजेक्शन जो आम तौर पर रोगी को दिया जाता है, सुरक्षित है। हालांकि, इंजेक्शन के साथ, कंट्रास्ट डाई से एलर्जी की प्रतिक्रिया का खतरा हो सकता है। जब डाई आपके शरीर में पहुँचती है तो आपको अपने मुँह में एक धातु के जैसा स्वाद लग सकता है। कुछ रोगियों को एक मामूली खुजली का अनुभव हो सकता है। यह इस प्रक्रिया का सबसे आम और हानिरहित दुष्प्रभाव में से हैं और आम तौर पर, ये एक या दो मिनट के अंदर गायब भी हो जाता है।
  • कुछ रोगियों में दानो का विकास हो सकता है, और कुछ अन्य लोगों को हल्के अस्थमा के दौरे का अनुभव हो सकता। यह बहुत दुर्लभ है कि किसी गंभीर एलर्जी की प्रतिक्रिया होती हो।
  • कुछ दुर्लभ मामलों में, कंट्रास्ट डाई आपके गुर्दे के कामकाज को प्रभावित कर सकते हैं। लेकिन, टेस्ट के बाद अस्थायी और तरल पदार्थ ज्यादा पीने से ऐसी विषमता से छुटकारा मिल सकता है।
  • आमतौर पर विकिरण से कोशिकाओं या ऊतकों को नुकसान का मामूली मौका है, विकिरण का कम स्तर भी इस टेस्ट में शामिल है। लेकिन एक्स-रे से होने वाले नुकसान की संभावना आम तौर पर टेस्ट के लाभ की तुलना में बहुत कम है।
  • कंट्रास्ट सामग्री के लेने से भी एलर्जी की प्रतिक्रिया के होने के मामूली ख़तरे हैं। प्रतिक्रिया से हल्के (खुजली, लाल चकत्ते) या गंभीर (मुसीबत सांस लेने या अचानक सदमे) हो सकता है। एलर्जी की प्रतिक्रिया से उत्पन्न मौत बहुत दुर्लभ है। ज्यादातर प्रतिक्रियाओं को दवा के साथ नियंत्रित किया जा सकता है। यदि आपको अस्थमा या किसी भी प्रकार की एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को इस बात से बताने ज़रूर सुनिश्चित करें।
  • कुछ शर्तों के साथ लोग की (जैसे डायबिटीज, एकाधिक मायलोमा, गुर्दे की पुरानी बीमारी, सिकल सेल रोग या फियोक्रोमोसाइटोमा) आईवीपी से अचानक गुर्दे की विफल होने की संभावना बढ़ जाती है। बूढें, वयस्कों और दवाएं लेने वाले लोगों जिससे उनके गुर्दे पर प्रभाव पड़ता है उनके आईवीपी के बाद समस्या के मौके बढ़ जाते हैं।
  • अगर आपको उप्पर की प्रतिक्रियाओं में से एक भी होती हैं तो आप अपने एक्स रे विभाग में अपने डॉक्टर या रेडियोग्राफर से परामर्श लें। अगर आपको पहले कभी किसी दवाई से एलर्जी हो चुकी है, तो आपको दृढ़ता से सलाह दी जाती है कि आप टेस्ट करवाने से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें। कृपया याद रखें कि सभी खतरे हर व्यक्ति पर एक जैसे नही होते हैं।

आईवीपी के साथ जुड़े खतरों के बारे में और अधिक जानने के लिए यहां पढ़ें

आईवीपी के परिणाम की व्याख्या

एक आईवीपी के बाद, एक रेडियोलाजिस्ट, विशेष रूप से प्रशासन और रेडियोलॉजी परीक्षा, की व्याख्या करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है और परीक्षा के दौरान लिए गए चित्रों का विश्लेषण करता है और अपने डॉक्टर के लिए एक हस्ताक्षरित रिपोर्ट देता है।

हर लैब का चित्र लेने का समय अलग – अलग होता है। आमतौर पर, आईवीपी के परिणाम पाने के लिए एक या दो दिन का समय लग जाता है। आप अपने डॉक्टर के पास आईवीपी परिणामों को लेकर जाएँ और आगे के उपचार के बारे में चर्चा करें।

इस प्रकार, एक आईवीपी (IVP) या आईवीयू (IVU) मानव शरीर में मूत्र पथ समस्याओं का पता लगाने में काफी मददगार हो सकता है। इससे उपचार के सही पाठ्यक्रम का पालन किया जा सकता है, यह परिणाम और निदान पर निर्भर करता है। जो medicinal और surgical दोनों हो सकता है।

अंत में, आईवीपी एक सस्ता और बहुत उपयोगी इमेजिंग साधन है, जो न केवल भारत भर में, बल्कि दुनिया में प्रासंगिक बना हुआ है।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


भारत में आईवीपी टेस्ट की कीमत / दिल्ली में एक्स रे आईवीपी की कीमत

आईवीपी टेस्ट (कीमत जानने के लिए लिंक पर क्लिक करें और टेस्ट बुक करें)। LabsAdvisor में एक्स रे आईवीपी की न्यूनतम कीमत एक्स रे आईवीपी टेस्ट के मार्किट मूल्य
दिल्ली में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत  ₹ 2100 ₹ 5000
गुड़गांव में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत ₹ 2000 ₹ 7830
फरीदाबाद में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत ₹ 2100 ₹ 5000
नोएडा में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत ₹ 2100 ₹ 5000
मुंबई में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत ₹ 3375 ₹ 4500
बैंगलोर / बेंगलुरू में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत  ₹ 1750 ₹ 3400
चेन्नई में एक्स रे आईवीपी टेस्ट की कीमत ₹ 2475 ₹ 2750
भारत में आईवीपी एक्स-रे टेस्ट की कीमत
LabsAdvisor.com- भारत में आईवीपी टेस्ट

भारत में आईवीपी टेस्ट कैसे बुक कर सकते हैं ?

आप भारत में आईवीपी टेस्ट LabsAdvisor.com को 08882668822 पर कॉल करके या info@labsadvisor.com पर ई- मेल करके बुक करा सकते हैं।आप गूगल PlayStore से हमारी एंड्रॉयड ऐप ‘LabsAdvisor’ को डाउनलोड करके भी बुकिंग कर सकते हैं। अगर आप Call Back चाहते हैं तो इस लेख के शुरू में दिए गए फॉर्म में अपनी details भरें।

नीचे कुछ अन्य मेडिकल टेस्ट गाइड है जो आपके लिए उपयोगी हो सकती है :-


One thought on “भारत में आईवीपी एक्स-रे टेस्ट (X Ray IVP in Hindi) की विस्तृत गाइड – आईवीपी टेस्ट की कीमत, प्रक्रिया, ख़तरे और परिणाम

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s