लिवर फंक्शन टेस्ट की संपूर्ण गाइड – Liver Function Test in Hindi

लिवर फंक्शन टेस्ट की विस्तृत जानकारी / Liver Function Problems

भारत में लिवर (जिसे हिंदी में जिगर या यकृत कहा जाता है) की बिमारी बहुत खतरनाक तरीके से बढ़ रही है। लिवर हमारे शरीर के वसा, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के रूपांतरण सहित विभिन्न महत्वपूर्ण कार्यो के प्रदर्शन का workhorse माना जाता है, और कुछ विटामिन और हार्मोन का metabolism भी है।

लिवर हमारे पेट में ऊपर के हिस्से में होता है। यह हमारे शरीर का सबसे महत्‍वपूर्ण अंग माना जाता है। यह शरीर में 500 से अधिक काम करता है, अगर इसमें किसी भी प्रकार की कोई ख़राबी होती है तो इसे नुकसान होता है और शरीर में कई लक्षण एक साथ दिखने लगते है। इस तरीके की समस्‍या, इंसान की गंदी आदतों जैसे – धूम्रपान, अत्यधिक शराब पीना और अस्वास्थ्य भोजन खाने की वजह से होती है। अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस होता है तो शीघ्र ही अपने डॉक्टर से सम्‍पर्क करें क्योंकि लिवर डैमेज के बारे में डॉक्टर कई टेस्ट के बाद ही बताते है।

LabsAdvisor, भारत में सबसे बड़ी diagnostic परीक्षण मंच है , जो भारत में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में सुधार लाने की दिशा में काम कर रहा है। इस प्रयास का एक बड़ा हिस्सा लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जागरूक करना है जिसका वे सामना कर रहें हैं।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


हमने एक संपूर्ण श्रृंखला की शुरूआत की हैं जिसमे शरीर के कई अंगों के बारे में और उनके निवारक और आदेशात्मक टेस्टों को शामिल किया गया है। इस गाइड में लिवर फंक्शन टेस्ट के बारे में अच्छी जानकारी प्रदान करने का इरादा है। इन निवारक कार्रवाई की मदद से हम अपने लिवर का प्रबंधन अच्छा कर सकते हैं। 

लिवर फंक्शन गाइड को निम्न वर्गों में बांटा गया है। आप अपनी इच्छा से किसी भी भाग को पढ़ सकते हैं। प्रत्येक अनुभाग को स्वतंत्र रूप से पढ़ा जा सकता है।

  1. हमारे शरीर की कार्यप्रणाली में लिवर की क्या भूमिका है?
  2. लिवर रोग के लक्षण क्या हैं?
  3. लिवर रोग टेस्ट किसको कराना चाहिए?
  4. लिवर की जाँच के लिए कौन से टेस्ट किये जाते हैं ?
  5. लिवर फंक्शन टेस्ट से क्या पता चलता है ?
  6. लिवर फंक्शन टेस्ट कैसे किया जाता है?
  7. लीवर फंक्शन टेस्ट के लिए उपलब्ध प्रयोगशालाए कौन सी हैं?
  8. लीवर फंक्शन टेस्ट की कीमत क्या है?
  9. लीवर फंक्शन टेस्ट में कौन-कौन से Parameters होते हैं?
  10. परिणामों की व्याख्या क्या है?
  11. लीवर फंक्शन टेस्ट की सामान्य सीमा क्या हैं?

हमारे शरीर में लिवर की क्या भूमिका है?/ Role of Liver in our body in Hindi

लिवर हमारे शरीर में Workhorse के रूप में माना जाता है। इसके कामकाज शरीर के अधिकांश कार्यों को एक या अन्य तरह से प्रभावित करते हैं। लिवर Metabolism कार्यों में वसा को तोड़ने के साथ उसे सुपाच्य बनाने में मदद करता है। लिवर में विटामिन और आयरन का स्टोर है। कुछ और कार्य इसमें शामिल हैं:

  • कार्बोहाइड्रेट और कुछ अमीनो एसिड को ग्लूकोज में परिवर्तित करके शरीर को ऊर्जा देता है।
  • प्रोटीन पर काम करके उसे शरीर के लिए उपयोगी बनाता है।
  • अपशिष्ट पदार्थ को घोलकर उन्हें यूरिन  के माध्यम से शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है
  • एल्कोहल और विभिन्न एंटीबायोटिक दवाओं की प्रक्रिया करना।
  • थायराइड हार्मोन और एस्ट्रोजन हार्मोन की प्रक्रिया करना।
  • त्वचा और गुर्दे के साथ-साथ शरीर में विटामिन डी के उत्पादन के लिए योगदान करना।
  • खून की सेलुलर components के गठन में मदद करता है

ऊपर दिए गए अंक शरीर के अंग की प्रमुख भूमिका पर प्रकाश डालते हैं। लिवर की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ देख सकते हैं।

लिवर फंक्शन टेस्ट की जानकारी - LabsAdvisor
Liver Function Test in Hindi

लिवर रोग के लक्षण क्या हैं?/ Symptoms of Liver Problems

लिवर की बीमारी के बारे में जानना बहुत मुश्किल होता है।  लिवर धीरे धीरे ख़राब होता है।  कई लोगों में जब तक लक्षण समझ में आते है, बहुत देर हो चुकी होती है। कमजोरी, थकान, आंखों का पीला पड़ना, पेट दर्द  ,अधिक शराब का सेवन करना, अस्वस्थ भोजन आदि इसके लक्षण हैं।

लिवर की बीमारी और शुरू होने के कारण नीचे दिए गए हैं:

फैटी लिवर: ऐसी हालत लिवर में अतिरिक्त वसा होने के कारण होती है। जब लिवर में वसा 5% से अधिक होता है, तो यह फैटी लीवर रोग की शुरुआत माना जाता है। मोटापा या ज़्यादा वसा, फैटी लीवर के विकास का प्राथमिक कारण है। शराब और कुछ आनुवंशिक कारकों की अधिक खपत भी इस हालत का कारण बन सकती है। अपने आप में फैटी लीवर आम तौर पर चिंता का एक बड़ा कारण नहीं है, आगे इन्फेक्शन या लिवर को कमज़ोर कर सकता है।  इसके लिए तुरंत आपको अपने डॉक्टर से परामर्श लेनी चाहिए।

फैटी लीवर के लक्षण/ Symptoms of Fatty Liver

  • दुर्बलता
  • हल्का पेट दर्द
  • वजन घटना
  • उलझन
  • सूजन उत्पन्न हो सकती है जो डॉक्टर शारीरिक परीक्षा के माध्यम से पहचान कर सकते हैं।

लिवर सिरोसिस: लीवर सिरोसिस एक स्थायी Scarring और लिवर को नुकसान पहुँचाने वाली बीमारी है। लीवर सिरोसिस से जीवन में खतरा पैदा हो सकता है और इसमें तुरंत ध्यान देने की आवश्यकता होती है। लीवर सिरोसिस के परिणाम में लिवर धीरे-धीरे शरीर को शुद्ध करने की अपनी क्षमता खो देता है। पैरों और शरीर के कुछ भागों में पानी की अत्यधिक मात्रा भी विषाक्त निर्माण का कारक हैं। धीरे धीरे यह रोगी के व्यक्तित्व को बदलना शुरू कर देगा, उसको भूलने की आदत हो जाएगी और सोने की प्रवृत्ति को प्रभावित करेगा। और अंत में,आंतरिक रक्तस्राव और कोमा भी हो सकता है।

लीवर सिरोसिस के लक्षण / Symptoms of Cirrhosis Liver

  • थकान
  • जी मिचलाना
  • वजन घटना
  • भूख कम लगना
  • आँखों में पीलापन

लीवर सिरोसिस का कारण अत्यधिक शराब का सेवन करना, आनुवांशिक कारक या वायरल संक्रमण हैं। कभी कभी, पार्किंसंस जैसी कुछ बीमारियों की दवाएं भी लिवर सिरोसिस रोग पैदा करने के लिए जाना जाता है।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


 लिवर कैंसर: लिवर कैंसर विभिन्न प्रकार का होता हैं और लीवर कैंसर के निम्न कारण हैं। चूंकि लिवर शरीर के विभिन्न अंगों से रक्त प्राप्त करता है, अन्य अंग में कैंसर से लिवर पर प्रभाव हो सकता है। लिवर कैंसर अत्यधिक शराब सेवन, हेपेटाइटिस बी, आनुवंशिक कारकों और वायरल संक्रमण के कुछ प्रकार के कारण से होता है। लीवर सिरोसिस के लोगों के साथ लीवर कैंसर के विकसित होने की अधिक संभावना होती है।

लिवर रोग कई अन्य प्रकार के होते हैं। असामान्य लिवर से संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ जा सकते हैं

लिवर Function टेस्ट किसको करवाना चाहिए?

भारतीय संदर्भ में यह अपील की गई है कि 30 साल की उम्र से ऊपर के सभी व्यक्तियों को वार्षिक निवारक स्वास्थ्य जांच में लिवर फंक्शन टेस्ट कराना चाहिए। जिन लोग में निम्न लक्षण या गुण पाएं जाते हैं उन्हें लिवर फंक्शन टेस्ट नियमित रूप से करवाना चाहिए।

  • कमजोरी, थकान या ऊर्जा की कमी
  • आंखों या त्वचा का पीला पड़ना
  • पेट में दर्द होना
  • वजन का काम होना
  • लिवर की बीमारी का पारिवारिक इतिहास
  • शराब का अधिक सेवन करना
  • बाहरी भोजन अधिक खाना
  • वो लोग जो पार्किंसंस जैसी बीमारियों की दवा नियमित रूप से लेते हों।

लिवर की जाँच के लिए कौन से टेस्ट किये जाते हैं ?

लिवर फंक्शन टेस्ट लिवर की जांच के लिए सबसे प्रमुख टेस्ट है।  इसके बारे में आगे लेख में  बताया गया है।  बाकी एडवांस्ड टेस्ट निम्नलिखित हैं।  

लिवर फंक्शन टेस्ट से क्या पता चलता है?

लिवर फ़ंक्शन टेस्ट, जिसे एल.एफ.टी (LFT) भी कहा जाता है, अनेक प्रकार के ब्लड टेस्ट का ग्रुप है। इस टेस्ट से लिवर में आई सूजन और परेशानी की जाँच की जा सकती है। इसके अलावा इस टेस्ट से यह भी पता चलता है कि लिवर कितने अच्छे से कार्य कर रहा है।  लिवर एंजाइम टेस्ट में, ए.एल.टी (एलनाइन अमीनोट्रांसफरेज), ए.एस.टी (एस्पर्टेट एमिनोट्रांसफ़रेस) , एल्कलाइन फ़ॉस्फ़टेज़ (एल्कलाइन फॉस्फाटेज) जैसी जाँचें भी होती हैं। और इसमें, आई.एन.आर (अंतर्राष्ट्रीय सामान्यीकृत अनुपात), पी.टी (प्रोथ्रॉम्बिन टाइम), बिलीरुबिन और एल्बुमिन जैसे टेस्ट शामिल हैं।

लिवर फंक्शन टेस्ट कैसे किया जाता है?

लिवर फंक्शन टेस्ट एक सामान्य रक्त आधारित परीक्षण है। इसमें अनेक पैरामीटर्स होते हैं जो लिवर के स्वास्थ्य को प्रदर्शित करता है। लीवर फंक्शन टेस्ट की रिपोर्ट में लिवर के पैरामीटर्स की सामान्य सीमाएँ शामिल होती है। एक phlebotomist या एक टेकनीशियन इस परीक्षण के लिए आपके हाथ से खून का नमूना निकालेंगे। इसमें घर से कलेक्शन की भी व्यवस्था की जा सकती है और आपको रात भर उपवास रखने की भी कोई आवश्यकता नहीं है। इसका परिणाम 24 घंटे के अंदर आ जाता हैं।


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


 लीवर फंक्शन टेस्ट के लिए उपलब्ध प्रयोगशालाएँ कौन सी हैं?

लीवर फंक्शन टेस्ट कई पैथोलॉजी लैब्स द्वारा किया जाता है। आप LabsAdvisor.com के द्वारा इस नंबर 08882668822 पर फोन करके अपने पास की प्रयोगशाला चुन सकते हैं और Labsadvisor.com पर जाकर अपने टेस्ट ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।

हमारे पैनल पर कई प्रयोगशालाएँ है जिन्हें आप अपनी इच्छानुसार चुन सकते हैं।

  • Thyrocare Technologies
  • Metropolis
  • Niramaya
  • Accuprobe
  • Mahajan Imaging
  • Quest Diagnostics
  • Janta X-Ray
  • Allianz Health
  • Oncquest

सही प्रयोगशाला का चयन करने में हम आपकी सहायता कर सकते हैं। अगर आप विचार-विमर्श करने के लिए call back  चाहते हैं, तो नीचे दिए गए फॉर्म को भरें।

भारत में लीवर फंक्शन टेस्ट (LFT) की कीमत क्या है?       

लीवर फंक्शन टेस्ट की कीमत लैब के हिसाब से अलग अलग हो सकती है। कुछ प्रयोगशालाओं के अपने ब्रांड के लिए प्रीमियम मूल्य होते हैं , जबकि दूसरो के सस्ते क्योंकि वे मार्केटिंग पर अधिक खर्च नहीं करते।  LabsAdvisor आपको, आपकी आवश्यकता के अनुसार अच्छी लैब का चयन करने की सुविधा देता है। नीचे दी गई तालिका में LabsAdvisor.com के साथ आप लीवर फंक्शन टेस्ट की न्यूनतम कीमत देख सकते हैं। आपके द्वारा चुना गया लिंक आपको कई प्रयोगशाला के विकल्पों के पृष्ठ पर ले जाएगा।

लीवर फंक्शन टेस्ट की कीमत / LFT टेस्ट की लागत  कम से कम कीमत
दिल्ली में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 330
गुड़गांव में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 330
नोएडा में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 440
मुंबई में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 525
हैदराबाद में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 490
फरीदाबाद में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 400
बेंगलुरु में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 400
गाज़ियाबाद में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 360
नवी मुंबई में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 525
चंडीगढ़ में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 545
चेन्नई में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 545
भारत के किसी भी शहर में लीवर फंक्शन टेस्ट / LFT की कीमत ₹ 545

लीवर फंक्शन टेस्ट में कौन-कौन से Parameters होते हैं?

लीवर फंक्शन टेस्ट में कई Parameters होते हैं जो लिवर की बीमारी और नुकसान का पता करने में मदद करता है। इसमें आमतौर पर निम्नलिखित शामिल हैं:

  • एस्पर्टेट एमिनोट्रांसफरेस (ए एस टी)
  • अलानीन एमिनोट्रांसफरेस (ए एल टी)
  • एल्कलाइन फॉस्फेटेस (ए एल पी)
  • बिलीरूबिन – इसमें कुल बिलीरूबिन, प्रत्यक्ष बिलीरुबिन, अप्रत्यक्ष बिलीरुबिन शामिल हैं।
  • कुल प्रोटीन (टी पी)
  • एल्बुमिन
  • गामा – ग्लूट ऐमिल ट्रांसफेरस (जी जी टी )
  • प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (पी टी)

लिवर फंक्शन टेस्ट के परिणामों की व्याख्या

लिवर की हालत और रोग के प्रकार  एल टी और एस टी बिलीरुबिन एल पी एल्बुमिन पी टी
एक्यूट लिवर की क्षति आमतौर पर काफी वृद्धि होना सामान्य या बढ़ना सामान्य या मामूली वृद्धि का होना साधारण साधारण
विभिन्न लिवर रोग के स्थायी रूप हल्का या मामूली वृद्धि का होना सामान्य या बढ़ना सामान्य थोड़ी वृद्धि करने के लिए साधारण साधारण
शराबी हैपेटाइटिस ए एस टी मामूली बढ़ा हुआ , आम तौर पर कम से कम दो बार ए एल टी का स्तर सामान्य या बढ़ना सामान्य या मामूली वृद्धि का होना साधारण साधारण
लीवर सिरोसिस ए एस टी आमतौर पर ए एल टी से अधिक हो बढ़ाया जा सकता है सामान्य या बढ़ना सामान्य या कम होना लंबे समय तक

लिवर फंक्शन टेस्ट के पैरामीटर्स की नार्मल रेंज

ए एल टी- 7 से 55 इकाइयों पर प्रति लीटर (यू/एल)

ए एस टी- 8 के लिए 48 (यू/एल)

ए एल पी- 45 के लिए 115 (यू/एल)

एल्बुमिन- 3.5 से 5.0 ग्राम प्रतिडेसीलीटर (ग्राम/डीएल)

कुल प्रोटीन- 7.9 से 6.3 (ग्राम/डीएल)

बिलीरुबिन – 0.1 से 1.2 डेसीलीटर प्रति मिलीग्राम (एमजी/डीएल)

जी जी टी – 9 के लिए 48 (यू/एल)

पी टी- : 9.5 के लिए 13.8 (सेकंड)

यह परिणाम एक normal पुरुष के लिए हैं। सामान्य परिणाम में एक प्रयोगशाला का अन्य प्रयोगशाला से भिन्न होता है और यह महिलाओं और बच्चों के लिए भी थोड़ा अलग हो सकता है।

लिवर फंक्शन और इसके टेस्ट के बारे में और पता करने के लिए,  नीचे लिंक्स पर क्लिक करें ।

http://www.healthline.com/health/liver-function-tests

http://www.webmd.com/a-to-z-guides/liver-function-test-lft

Liver Function Test Guide in English for Indian Readers


₹ 200 का वाउचर पाएँ और LabsAdvisor के साथ कोई भी मेडिकल टेस्ट करवाएँ। 

कोड प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।



44 thoughts on “लिवर फंक्शन टेस्ट की संपूर्ण गाइड – Liver Function Test in Hindi

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s