fbpx

भारत में किडनी फंक्शन टेस्ट एवं गुर्दे के टेस्ट की कीमत सहित जानकारी/ KFT TEST IN HINDI

किडनी/ गुर्दे  की बीमारी की विस्तृत जानकारी/ KFT TEST IN HINDI/ RFT Test in Hindi

LabsAdvisor.com के द्वारा भारत में किडनी फ़ंक्शन टेस्ट की लागत/ KFT Test in Hindi की कीमत आपके द्वारा चुनी गई लैब के आधार पर ₹ 300 से ₹ 500 के बीच में होती है। जिसमें आपके घर से सैंपल कलेक्शन हो जाएगा और आपका लैब में जाने का खर्च भी बच सकता है। यदि आप जल्द से जल्द अपना किडनी की जाँच / रीनल फ़ंक्शन टेस्ट बुक करना चाहते हैं, तो हमें 09999279113 पर कॉल करें या हमारे ऑनलाइन बुकिंग पोर्टल LabsAdvisor.com पर ऑनलाइन बुक करें।

आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने किडनी की जाँच/ आरएफटी परीक्षण (RFT Test) की कीमत जान सकते हैं। टेस्ट कराने के बाद आपको LabsAdvisor द्वारा 3% कैश बैक भी मिलेगा।

किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत/ KFT टेस्ट की कीमत/ KFT Test in Hindi  ₹ 400 

भारत के अन्य शहरों में KFT टेस्ट की कीमत/ Cost of KFT Test in Hindi 

हमारी तरफ से कॉल चाहते है तो निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपनी जानकारी दे :

भारत के शहरों में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत/ Cost of KFT Test in Hindi/ (KFT Test Ki Kimat)

हम भारत के 250 से अधिक विभिन्न शहरों में यह टेस्ट उपलब्ध कराते हैं, जहां आप केएफटी टेस्ट / किडनी की जाँच सबसे कम कीमत में करा सकते है। आपके द्वारा चुना गया लिंक आपको केएफटी परीक्षण के कई लैब के विकल्पों के पृष्ठ पर ले जाएगा।

रीनल फंक्शन टेस्ट की कीमत / KFT टेस्ट की लागत/ KFT Test in Hindi भारत में KFT परीक्षण की कम से कम कीमत
दिल्ली में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 300
गुड़गांव में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹  400
नोएडा में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 495
मुंबई में किडनी फंक्शन टेस्ट KFT की कीमत ₹ 584
हैदराबाद में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹525
बेंगलुरु में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 416
नवी मुंबई में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 584
चेन्नई में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 584
भारत के किसी भी शहर में किडनी फंक्शन टेस्ट की कीमत / KFT Test की कीमत ₹ 515

किडनी फ़ंक्शन की गाइड को निम्न अनुभागों में विभाजित किया गया है। हम भारत में किडनी फ़ंक्शन की गाइड में निम्नलिखित क्षेत्रों को कवर करते हैं। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी भी अनुभाग को पढ़ सकते हैं।

  1. किडनी (गुर्दे) क्या हैं?/ What is KFT Test in Hindi?
  2. मानव शरीर में किडनी क्या भूमिका निभाती है?/ Importance of kidney in human body?
  3. गुर्दे की विफलता क्या है?/ What is kidney failure?
  4. गुर्दे की विफलता के कारण क्या है?/ What are reasons of kidney failure?
  5. किडनी डिस्फंक्शन के संकेत क्या हैं?/ What are the symptoms of Kidney failure?
  6. किडनी फंक्शन टेस्ट किसे कराना चाहिए?/ Who should perform KFT Test in Hindi?
  7. किडनी परीक्षण के लिए निर्धारित टेस्ट क्या हैं?/ What are the tests for Kidney?
  8. किडनी फंक्शन टेस्ट कैसे किया जाता है?/ How KFT test is done?
  9. किडनी फंक्शन टेस्ट के लिए उपलब्ध लैब कौन कौन सी हैं? Lab available for KFT test In hindi?
  10. किडनी फंक्शन टेस्ट में शामिल पैरामीटर क्या हैं? Parameters included in KFT test in hindi?
  11. किडनी की जाँच के परिणामों की व्याख्या क्या है?/What is the interpretation of the results of KFT test in Hindi?

किडनी (गुर्दे) का टेस्ट क्या हैं?/ KFT Test Kya Hai ?/ What is KFT Test in Hindi?

हम सभी जानते हैं कि मानव शरीर में कुछ अंग हमारे अस्तित्व के लिए जरूरी हैं: हमें अपने दिल, फेफड़ों, दिमाग और गुर्दे की जरूरत है।
हम सभी को जीवित रहने के लिए कम से कम एक गुर्दे की जरूरत है।

गुर्दे बेशक छोटे होते हैं, लेकिन वे हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक हैं और हमारे पूरे स्वास्थ्य को बनाए रखने में बड़ी ज़िम्मेदारी निभाते है। यह रीढ़ की हड्डी के दोनों तरफ स्थित होते है। गुर्दे का आकार हमारे मुट्ठी के बराबर होता है। गुर्दे हमारे शरीर से सभी अवांछित कचरे और विषाक्त पदार्थ को निकालने का काम करते है। गुर्दे की विफलता बहुत खतरनाक हो सकती है क्योंकि सभी विषाक्त पदार्थ हमारे शरीर में जमा हो जाएंगे जो अंततः हमारे जीवन के लिए ख़तरनाक़ साबित हो सकते हैं, यह अन्य अंगों को भी प्रभावित करता है।

भारत में रीनल फंक्शन टेस्ट (RFT Test) की पूरी गाइड पढ़ें।
किडनी फंक्शन टेस्ट के लिए 09811166231 पर कॉल करें और KFT परिक्षण डिस्काउंट रेट में बुक करें।

किडनी की पथरी/ गुर्दे की पथरी/ Kidney Stone in Hindi/ Kidney Test in Hindi

 जब गुर्दे में छोटे-छोटे पत्थर होने लगते हैं तो इससे गुर्दे में पथरी (Gurde ki Pathri) की समस्या पैदा होती है। ये आमतौर पर मध्य आयु (35 साल) या उसके बाद पता लगनी शुरू होती है। लेकिन ये जरूरी नहीं है क्योंकि पथरी की समस्या युवाओं और कम आयु वाले बच्चों में भी देखने को मिलती है। पेशाब (यूरिन) में पाये जाने वाले रासायनिक तत्वों से पथरी बनती है। इन तत्वों में फास्फोरस कैल्शियम, यूरिक एसिड, और ओ़क्जेलिक एसिड शामिल हैं। कैल्शियम ओक्जेलेट (Calcium Oxalate) से 90% पथरी का निर्माण होता है।

गुर्दे में पथरी एक या अधिक हो सकती है। कभी कभी पथरी बिना किसी दर्द के यूरिन के माध्यम से बाहर निकल जाती है। अगर ये बड़ी हो जाएं, 2-3 मिमी की , तो ये मूत्रवाहिनी में रुकावट पैदा कर देती हैं। इस स्थिति में बहुत असहनीय दर्द होता है।

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) का दर्द काफी तेज होता है। जब पथरी अपने स्थान से इधर उधर खिसकती है तब दर्द ज़्यादा होता है। और यह  गुर्दे से खिसककर युरेटर और फिर यूरिन ब्लैडर में आ जाती है।

गुर्दे रोग / किडनी रोग के उपचार

  • स्वस्थ भोजन खाएं।
  • पानी ज्यादा पियें।
  • रोज़ाना 30 मिनट तक तेज-तेज चलें।
  • शरीर का वजन नियमित सीमा में रखना।
  • नमक का उपयोग कम करना।
  • रोज़ व्यायाम करें।
  • स्मोकिंग एवं अन्य नशीली चीजों का सेवन कम करें।
  • दर्द निवारक दवाइयों का सेवन कम से कम करें।

मानव शरीर में किडनी क्या भूमिका निभाती है?/ Importance of kidney in human body?

गुर्दे एक ही आकार में होते हैं और ऊपरी पेट की गुहा में होते है; वे रीढ़ की हड्डी के स्तंभ के एक दूसरे के विपरीत तरफ हैं। लीवर को समायोजित करने के लिए दाएं किडनी बाएं किडनी से थोड़ा कम है। इनका सबसे महत्वपूर्ण काम खून को फ़िल्टर करके उसमे से अपशिष्ट पदार्थों को यूरिन के रूप में शरीर से बाहर निकालना है,और रासायनिक संतुलन बनाए रखना है। साथ ही इनमें से हारमोन भी निकलते हैं। कम से कम  110 लीटर खून प्रतिदिन गुर्दों से होकर गुजरता है। गुर्दे इस खून को साफ़ करके और उसमें से बेकार पदार्थ , क्रिएटिनिन, यूरिया, पोटैशियम, जहरीले पदार्थ और आवश्यकता से अधिक पानी को बाहर कर देते हैं।

गुर्दे से तीन हारमोन रेनिन , ऐरिथ्रोपोयटिन तथा कैल्सिट्रियाल निकलते हैं। रक्तचाप असामान्य होने पर रेनिन का स्राव होता है। ऐरिथ्रोपोयटिन खून के तत्वो को प्रेरित करता है, यह खून बनाने के लिए अति आवश्यक है। कैल्स्ट्रियाल हड्डियों में कैल्शियम तथा रासायनिक संतुलन बनाए रखता है।

गुर्दे शरीर में पानी का स्तर और विभिन्न खनिज को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, वे निम्न उत्पादन के लिए भी महत्वपूर्ण हैं:

  • विटामिन डी
  • लाल रक्त कोशिकाओं
  • हार्मोन से रक्तचाप को नियंत्रित करने में

हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों और कचरे को हटाने के अपने सबसे प्राथमिक कार्य के अलावा, गुर्दे बहुआयामी हैं। गुर्दे की कुछ प्रमुख भूमिकाओं का उल्लेख नीचे दिया गया है:

  • अपशिष्ट और अन्य तरल पदार्थ बाहर निकालने में: हम अपने शरीर का हर दिन विभिन्न प्रकार के खाद्य और पेय पदार्थों का उपभोग करके दुर्व्यवहार करते हैं जो हमारे शरीर पर बहुत अधिक दबाव डालता है, इन चीजों में से कई चीजें हैं जिन्हें शरीर की आवश्यकता नहीं होती है। गुर्दे हमारे शरीर को फ़िल्टर के रूप में कार्य करते हैं, वे सभी अवांछित विषाक्त पदार्थों, अतिरिक्त लवण और यूरिया को निकालने में मदद करते हैं और यदि गुर्दे ऐसा करने में असफल होते हैं तो सभी विषाक्त पदार्थ हमारे शरीर में जमा हो जाते हैं जो बदले में गुर्दे को नुकसान पहुंचाता है।
  • जल स्तर संतुलन बनाए रखने में: चूंकि गुर्दे यूरिन के रासायनिक टूटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जब भी शरीर में पानी के स्तर में कोई भी परिवर्तन होता है तो गुर्दे प्रतिक्रिया करना शुरू कर देते हैं, उदाहरण के लिए जब हमारे शरीर में पानी के स्तर में कमी होती है तो गुर्दे इसे निकालने के बजाए हमारे शरीर में पानी छोड़ना शुरू कर देते हैं।
  • रक्तचाप को नियमित रखने में: शरीर में रक्त की मात्रा को नियमित करके गुर्दे रक्तचाप को बनाए रखते हैं। गुर्दे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स (जैसे सोडियम और पोटेशियम) के उचित स्तर को बनाए रखते हैं। जब इलेक्ट्रोलाइट का स्तर अधिक होता है, तब रक्त की मात्रा बढ़ जाती है और शरीर आवश्यक से अधिक पानी बनाना शुरू कर देता है, जिसके परिणामस्वरूप उच्च रक्तचाप होता है।अप्रत्यक्ष रूप से शरीर में रक्त की मात्रा को नियंत्रित करके गुर्दे रक्तचाप को नियमित बनाए रखते है।
  • लाल रक्त कोशिका को नियमित करने में: गुर्दे को ऑक्सीजन भेजा जाता है जब किडनी को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलता है। तो “एरिथ्रोपोइटीन” नामक एक हार्मोन अस्थि मज्जा में अधिक ऑक्सीजन-वाहक लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने के लिए उत्तेजित होता है।
  • एसिड नियमित रखने में: कोशिकाएं चयापचय के रूप में, एसिड उत्पन्न करते हैं। गुर्दे हमारे शरीर में पीएच स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। हमारे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ या तो हमारे शरीर में एसिड बढ़ा सकते हैं या इसे निष्क्रिय कर सकते हैं। शरीर के लिए ठीक से काम करना है, हमें इन रसायनों का स्वस्थ संतुलन बनाए रखना होगा। और गुर्दे का भी।
  • हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में: कैल्शियम और फास्फोरस को अवशोषित करने के लिए हमारे शरीर और हड्डियों को विटामिन डी की आवश्यकता होती है। गुर्दे भी विटामिन डी का एक सक्रिय रूप बनाते हैं। स्वस्थ संतुलन को बनाए रखने के लिए हमारे शरीर को ठीक से काम करने की जरूरत है, कोशिकाएं चयापचय और एसिड उत्पन्न करती हैं, यहां तक कि खाने वाले खाद्य पदार्थ हमारे शरीर में एसिड बढ़ा सकते हैं या इसे निष्क्रिय कर सकते हैं। गुर्दे इन रसायनों को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
किडनी फंक्शन टेस्ट की जानकारी LabsAdvisor
Summary Information About Kidney Function Test in Hindi / RFT in Hindi

गुर्दे की विफलता क्या है?/ What is kidney failure?

गुर्दे की विफलता के कई कारण हैं, और इस बीमारी के शुरुआती उपचार गुर्दे की असामान्यता को सही करने में पहला कदम हो सकता है।

गुर्दे की विफलता के कुछ कारण इलाज योग्य हैं जिसमें किडनी के कार्य सामान्य हो सकते हैं। दुर्भाग्य से, अन्य परिस्थितियों में गुर्दे की विफलता प्रगतिशील या अपरिवर्तनीय हो सकती है।

जब गुर्दे रक्त से कचरे को ठीक से फ़िल्टर करने में सक्षम नहीं होते हैं तो पर्याप्त रूप से गुर्दे की विफलता होती है। ऐसे कई कारक हैं जो गुर्दे के स्वास्थ्य और कार्य में हस्तक्षेप कर सकते हैं, उनमें से कुछ कुछ नीचे उल्लिखित हैं:

  • पर्यावरण प्रदूषण के लिए विषाक्त संपर्क
  • कुछ गंभीर और पुरानी बीमारियां
  • गंभीर निर्जलीकरण
  • गुर्दे की क्षति

गुर्दे की विफलता के कारण क्या है?/ What are the reasons of Kidney failure?

मधुमेह और उच्च रक्तचाप: गुर्दे की बीमारी के दो मुख्य कारण हैं, जो गुर्दे की विफलता के 44% तक के लिए ज़िम्मेदार हैं। मधुमेह मुख्य रूप से शरीर में कई अंगों को जैसे दिल और गुर्दे, रक्त वाहिका, नसों, और आंखें सहित को नुकसान पहुंचाता है। ब्लड शुगर और उच्च दबाव के लिए उचित दवा का सावधानीपूर्वक नियंत्रण गुर्दे की विफलता को रोक सकता है और लंबे समय तक बनाए रखता है।

कभी-कभी गुर्दे अचानक काम करना बंद कर सकते हैं (दो दिनों के अंदर)। इस प्रकार की गुर्दे की विफलता को तीव्र किडनी विफलता के रूप में जाना जाता है। तीव्र गुर्दे की विफलता के कुछ सामान्य कारणों में शामिल हैं:

  • दिल का दौरा या दिल की बीमारी।
  • अवैध दवा का उपयोग और नशीली दवाओं के दुरुपयोग। (विशेष रूप से दर्दनाशक, unprescribed दवाएं)।
  • गुर्दे में बहने वाले पर्याप्त रक्त न मिलने के संक्रमण के कारण।
  • मूत्र पथ की समस्याएं, जैसे गुर्दे की पत्थरों, बढ़ी प्रोस्टेट इत्यादि।
  • स्व – प्रतिरक्षित रोग।
  • आनुवांशिक रोग, जैसे पॉलीसिस्टिक गुर्दे की बीमारी।

किडनी डिस्फंक्शन के संकेत क्या हैं?/ किडनी रोग के लक्षण/ गुर्दा रोग के लक्षण/ What are the symptoms of Kidney failure?

किडनी रोग के साथ 20 मिलियन से अधिक लोग जी रहें हैं और कई लोग इसे जानते तक नहीं हैं। गुर्दे की समस्या के कई शारीरिक संकेत हैं।गुर्दे के कम समय (अस्थायी) के रोग, जैसे गुर्दे या यूरिन की नली में इंफेक्शन होना, गुर्दे में पथरी का बनना, लूज मोशन हो जाने की वजह से शरीर में पानी की कमी होना। और साथ ही कुछ दवाओं के लेने से भी गुर्दे की कार्य प्रणाली पर असर पड़ता है। गुर्दे की खराबी का अधिकांश कारण स्थायी बिमारी हैं। ये बिमारी तब शुरू होती है, जब गुर्दे 3 महीने लगातार शरीर से अवांछनीय पदार्थों को निकालने में असर्मथ रहते हैं।

कुछ प्रमुख लक्षण नीचे दिए गए हैं:

  • अधिक थका हुआ या कमजोरी महसूस करना और ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना।
  • बी. पी. का लेवल बड़ा रहना।
  • ज्यादातर समय ठंडा लगना, जब अन्य किसी को न लगे।
  • सोने में परेशानी होना।
  • साँस लेने में परेशानी होना।
  • सूखी और खुजली वाली त्वचा।
  • अधिक पेशाब लगना और पेशाब करने में दिक्कत आना।
  • यूरिन में खून के आना।
  • आंखों के चारों ओर लगातार फुफ्फुस का अनुभव होना।
  • हाथों और पैरों में सूजन होन।
  • भूख कम लगना।
  • मांसपेशियों में ऐठन होना।

अगरआपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस होता है तो इसका मतलब है कि आपके गुर्दे ठीक से काम नहीं कर रहे हैं।  शीघ्र ही अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें। ये साधारण खून टेस्ट है, जिससे आपके गुर्दे की समस्याओं की पहचान हो सकती है।

किडनी फंक्शन टेस्ट किसे कराना चाहिए?/ Who should perform KFT Test in Hindi?

गुर्दे की बीमारी आमतौर पर कोई भी प्रारंभिक संकेत (हमारे शरीर में बदलाव) या लक्षण (हम कैसे महसूस करते हैं में कोई परिवर्तन) नहीं दिखाती है। यह जानने का एकमात्र तरीका है कि हमे हर साल या अर्ध-वार्षिक में किडनी फंक्शन टेस्ट कराना चाहिए। जिससे हम जान पाएंगे कि हमारे गुर्दे कैसे काम कर रहें हैं।

मुख्य रूप से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, गुर्दे की बीमारी का कोई पारिवारिक इतिहास और 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को नियमित अंतराल पर गुर्दे का परीक्षण कराना चाहिए।

जिन लोगों के पास निम्नलिखित लक्षण या गुण हैं, उन्हें नियमित अंतराल पर किडनी फ़ंक्शन परीक्षण करने पर विचार करना चाहिए।

  • मधुमेह
  • उच्च रक्त चाप
  • बिना किसी कारण के मूत्र में रक्त या प्रोटीन का मिलना।
  • कार्डियोवैस्कुलर बीमारी (वह लोग जिन्हे दिल की समस्याओं जैसे कोरोनरी हृदय रोग या स्ट्रोक हो।)
  • ह्रदय का रुक जाना।
  • गुर्दे के पथरी वाले लोग।
  • जिन लोगों का बढ़ा प्रोस्टेट है।
  • गुर्दे की बीमारी का पारिवारिक इतिहास हो।

किडनी/ गुर्दे की जांच के लिए निर्धारित टेस्ट क्या हैं?/ What are the tests for Kidney?

गुर्दे/ किडनी की जांच करने के लिए, डॉक्टर आपको नीचे उल्लिखित टेस्ट करने की सलाह देगा। लेकिन आप इन्हें व्यक्तिगत या निर्धारित स्वास्थ्य पैकेज के रूप में परीक्षण कर सकते हैं।

किडनी का टेस्ट किडनी फ़ंक्शन टेस्ट (केएफटी टेस्ट)/(KFT test in Hindi) या रीनल फंक्शन टेस्ट नामक रक्त परीक्षण के माध्यम से किया जा सकता है।

  • रक्त परीक्षण आपके जीएफआर की जांच करता है, जो बताता है कि आपके गुर्दे कितने अच्छे से प्रदर्शन और फ़िल्टरिंग कर रहे हैं। GFR का पूरा नाम ग्लोम्युलर निस्पंदन दर (Glomerular Filtration Rate) है।
  • यूरिन में प्रोटीन और रक्त की जाँच के लिए यूरिन टेस्ट किया जाता है।

आगे के मूल्यांकन के लिए उपयोग किए जाने वाले अन्य परीक्षण हैं।

  • कभी-कभी, पूरे पेट का सीटी स्कैन (Computerized Tomography Scan), कंट्रास्ट के साथ (बेहतर और स्पष्ट छवियों के लिए) भी किया जाता है।
  • पेट का अल्ट्रासाउंड गुर्दे के आकार या स्थिति में किसी भी असामान्यता की जांच करने के लिए किया जाता है और पथरी और ट्यूमर जैसे बाधाओं के लिए भी किया जाता है।
  • Endoscopic Retrograde Cholangio-Pancreatography (ERCP)
  • Magnetic Resonance Cholangio-Pancreatography (MRCP)
किडनी की जाँच के लिए 09811166231 पर कॉल करें।
भारत में किडनी की जाँच 50% तक की छूट के साथ बुक करें।

किडनी टेस्ट कैसे किया जाता है?/ किडनी की जाँच कैसे की जाती है?/ Kidney Test Kaise Hota Hai?

किडनी फ़ंक्शन टेस्ट/(KFT test in Hindi)  आपके गुर्दे के फ़ंक्शन का मूल्यांकन करने के लिए एक आवश्यक रक्त-आधारित परीक्षण है। यह टेस्ट यह जांचने के लिए क्या जाता है कि क्या आपकी किडनी (गुर्दा) ठीक तरह से काम कर रही है। डॉक्टर, नर्स या लैब तकनीशियन / Phlebotomist आपकी बांह से रक्त का नमूना एकत्र करेगा। इसमें घर से कलेक्शन की व्यवस्था भी की जा सकती है। आमतौर पर, ये टेस्ट सुबह जल्दी किया जाता हैं। इसका परिणाम 24 घंटे के अंदर आ जाता हैं। ये परीक्षण डॉक्टरों को यह देखने में मदद करता है कि आपके शरीर से कितनी तेजी से क्रिएटिनिन (अपशिष्ट उत्पाद) साफ़ हो रहा है। मांसपेशी ऊतक के टूटने वाले उत्पाद को क्रिएटिनिन के रूप में जाना जाता है।

किडनी फ़ंक्शन टेस्ट की रिपोर्ट में शामिल पैरामीटर की सामान्य श्रेणियां होती हैं। रक्त और मूत्र की रिपोर्ट आपको यह आकलन करने में मदद करेगी कि क्या आपको अधिक जांच की आवश्यकता है या नहीं। कई परीक्षणों के लिए सामान्य मूल्य रोगी की आयु और लिंग द्वारा निर्धारित किए जाते हैं।

यदि आपके परीक्षण के परिणाम किसी भी असामान्यता को दिखाते हैं, तो आपको शायद नियमित किडनी फ़ंक्शन टेस्ट की आवश्यकता होगी।

किडनी फंक्शन टेस्ट के लिए उपलब्ध लैब कौन कौन सी हैं?/ Lab available for KFT test In hindi?

किडनी फ़ंक्शन टेस्ट/(KFT test in Hindi) कई पैथोलॉजी लैब द्वारा आयोजित किया जाता है। आप अपने आस-पास की लैब से संपर्क कर सकते हैं या 09999279113 पर कॉल कर सकते हैं या आप Labsadvisor.com पर अपना परीक्षण ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं। जहाँ आपको हमारे पैनल पर कई लैब की सूची मिलेगी और आप लागत, गुणवत्ता रेटिंग, Home Collection सुविधा और क्षेत्र के आधार पर अपने परीक्षण के लिए लैब चुन सकते हैं।

किडनी फंक्शन टेस्ट में शामिल पैरामीटर क्या हैं?/ Parameters included in KFT test in hindi?

आपका डॉक्टर आपके किडनी फ़ंक्शन का परीक्षण करने के लिए परीक्षणों का एक सेट ऑर्डर करेगा, जो आपके ग्लोम्युलर फ़िल्ट्रेशन रेट (GFR) का अनुमान लगा सकता है। यह आपके डॉक्टर को बताता है कि कितनी जल्दी आपके गुर्दे आपके शरीर से अपशिष्ट उत्पाद को बाहर निकल रहा है। इसमें आमतौर पर निम्नलिखित शामिल होते हैं:

  • BUN या ब्लड यूरिया नाइट्रोजन – ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट हमारे खून में अपशिष्टों की जांच करता है।
  • सीरम क्रिएटिनिन – यह परीक्षण जांचता है कि क्या आपके रक्त में क्रिएटिनिन बन रहा है या नहीं। किडनी की उच्च स्तर की समस्या का सुझाव देता है।
  • Glomerular Filtration Rate (जीएफआर टेस्ट) – यह परीक्षण उम्र, लिंग, जाति, ऊंचाई, वजन जैसे कारकों को देखकर दर निर्धारित करता है।
  • इलेक्ट्रोलाइट्स (पोटेशियम और सोडियम)।
  • रक्त और मूत्र में क्लोराइड।
  • क्रिएटिनिन क्लीयरेंस।
  • यूरिन में प्रोटीन।
  • यूरिन एनालिसिस।

किडनी टेस्ट में उपलब्ध Parameters

  • यूरिक एसिड (Uric Acid)
  • सीरम यूरिया (Serum Urea)
  • सीरम क्रिएटिनिन (Serum Creatinine)
  • यूरिया/ क्रिएटिनिन रेश्यो (Urea / Creatinine Ratio)
  • ब्लड यूरिया नाइट्रोजन (बन) (Blood Urea Nitrogen) (BUN)
  • बन /क्रेटिनिन रेश्यो (BUN / Cretinine Ratio)

किडनी की जाँच के परिणामों की व्याख्या क्या है?/What is the interpretation of the results of KFT test in Hindi?

यूरिया (Urea) –

बढ़ा हुआ –

भारी प्रोटीन भोजन

गंभीर तनाव (बुखार, म्योकॉर्डियल इंफार्क्शन)

कम –

प्रोटीन की कमी (सेलियाक रोग, नेफ्रोटिक सिंड्रोम)

गंभीर लीवर रोग (अंत चरण सिरोसिस, हेपेटाइटिस)

ओवरहाइड्रेशन (मनोवैज्ञानिक पानी पीने)

क्रिएटिनिन (Creatinine) –

बढ़ा हुआ –

  • अवांछित किडनी समारोह
  • आहार में बहुत सारे मांस
  • बहुत बड़ी मांसपेशी द्रव्यमान
  • अनाबोलिक स्टेरॉयड उपयोगकर्ता

कम –

  • महत्वपूर्ण नहीं है।

यूरिक एसिड (Uric Acid) –

बढ़ा हुआ –

  • रीनल विफलता
  • गठिया
  • न्यूक्लियोप्रोटीन का टूटना (जलन, क्रश चोट)
  • हीमोलिटिक अरक्तता
  • रोगी थियाजाइड मूत्रवर्धक प्राप्त कर रहा है।

कम –

  • महत्वपूर्ण नहीं है।

सोडियम (Sodium) –

Hypernatremia (सोडियम में वृद्धि) –

  • डिहाइड्रेशन
  • दस्त (पानी की कमी)
  • हाइपरड्रेनलिज्म (कुशिंग सिंड्रोम)
  • Aldosteronism

Hyponatremia (सोडियम में कमी) –

  • ओवरहाइड्रेशन
  • दस्त (सोडियम नुकसान)
  • आंतों का फिस्टुला
  • एडिसन रोग (हाइपोड्रेनलिज्म)
  • रीनल बीमारी, ट्यूबलर डिसफंक्शन

पोटैशियम (Potassium) –

हाइपरक्लेमिया (पोटेशियम में वृद्धि) –

  • K+ Shock के गुर्दे की निकासी के ऊतक क्षति या हानि
  • अनियंत्रित मधुमेह मेलिटस (ऊतक टूटना, कैलोरी के लिए प्रोटीन का उपयोग)
  • डिहाइड्रेशन
  • एड्रेनोकॉर्टिकल अपर्याप्तता (एडिसन रोग)

हाइपरक्लेमिया (पोटेशियम में कमी) –

  • अस्वस्थ भोजन का सेवन
  • लंबे समय तक अंतःशिरा ग्लूकोज या NaCl (without K+)
  • उल्टी
  • GI फिस्टुला (ज्यादातर आंतों में)

क्लोराइड (Chloride) –

Hypochloraemia (क्लोराइड में वृद्धि) –

  • डिहाइड्रेशन
  • हाइपरक्लोरेमिक एसिडोसिस (HCO3 का नुकसान- डायरिया या गुर्दे ट्यूबलर एसिडोसिस के कारण क्लोराइड में क्षतिपूर्ति वृद्धि के साथ)।
  • श्वसन केंद्र (दवाओं, हिस्टीरिया, चिंता, बुखार, हाइपरवेन्टिलेशन) का उत्तेजना क्लोराइड में क्षतिपूर्ति वृद्धि के साथ, CO2 के नुकसान और HCO3 में कमी का कारण बनता है।
  • उच्च ऊंचाई (एक छोटा प्रभाव जो हाइपरवेन्टिलेशन के कारण होता है), CO2 के नुकसान और HCO3 में कमी का कारण बनता है, क्लोराइड में क्षतिपूर्ति वृद्धि के साथ

Hypochloraemia (क्लोराइड में कमी) –

  • ओवरहाइड्रेशन
  • Hypoventilation (CO2 प्रतिधारण)
  • केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र (CO2 प्रतिधारण) की अवसाद, CO2 और HCO3 – और क्लोराइड में क्षतिपूर्ति कमी के साथ।
  • पल्मोनरी बीमारी (CO2 प्रतिधारण), CO2 और HCO3 – और क्लोराइड में क्षतिपूर्ति कमी के साथ।
  • पुरानी गुर्दे की बीमारी
  • मधुमेह केटोसिस

किडनी फंक्शन टेस्ट के लिए उपलब्ध लैब कौन सी हैं?

किडनी फंक्शन टेस्ट/(KFT test in Hindi) कई पैथोलॉजी लैब्स द्वारा किया जाता है। आप लैब्स एडवाइजर  के द्वारा इस नंबर 09999279113 पर फोन करके अपने पास की लैब चुन सकते हैं और Labsadvisor.com पर जाकर अपने टेस्ट ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।

हमारे पैनल पर कई लैब है, जिन्हें आप अपनी इच्छानुसार चुन सकते हैं। सही प्रयोगशाला का चयन करने में हम आपकी सहायता कर सकते हैं। अगर आप विचार-विमर्श करने के लिए कॉल बैक चाहते हैं, तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अपनी जानकारी भरें।

 

किडनी फंक्शन टेस्ट/(KFT test in Hindi) के बारे में और पता करने के लिए, नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करें।

http://www.healthline.com/health/kidney-function-tests

To know more about serum creatinine test read the guide here

To read this article in English, click here: Complete Guide on Kidney Function Test in India including KFT Test Cost in India

भारत में eGFR टेस्ट की कीमत ओर प्रक्रिया जानने के लिए क्लिक करें। eGFR टेस्ट 40% की छूट के साथ बुक करें।

Summary
product image
Author Rating
1star1star1star1star1star
Aggregate Rating
4 based on 5 votes
Brand Name
LabsAdvisor
Product Name
Kidney Function Test
Price
INR 240
Product Availability
Available in Stock